भारत को WHO के निर्देशों की जरूरत नहीं: खुद लड़ेगा

0
163
भारत को WHO के निर्देशों की जरूरत नहीं खुद लड़ेगा
logo of WHO

WHO। भारत और विश्व स्वास्थ्य संगठन के बीच इस समय कोई खास तालमेल नजर नहीं आ रहा है, भारत ने डब्ल्यूएचओ के पक्षपाती रवैया अपनाने की वजह से अब कोरोना के खिलाफ खुद ही लड़ाई लड़ने का संकल्प लिया है भारत के मुताबिक अब उन्हें डब्ल्यूएचओ के निर्देशों की कोई आवश्यकता नहीं है, भारत अपनी लड़ाई खुद लड़ सकता है।

hydroxychloroquine की वजह से बड़ा विवाद

हाल ही में डब्ल्यूएचओ ने hydroxychloroquine के इस्तेमाल को खतरनाक बताया था जिसे लेकर भारत डब्ल्यूएचओ के रवैए से नाराज हो गया, जहां भारतीय वैज्ञानिक इस दवाई से अच्छे परिणाम आने के संकेत दे रहे हैं वहीं डब्ल्यूएचओ इसे खतरनाक बता रहा है।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ICMR के वैज्ञानिकों ने इस दवा पर शोध करके पता लगाया है तथा कहा है कि यह दवाई कोरोना से लड़ने में कारगर साबित हो सकती है वही डब्ल्यूएचओ इसे खतरनाक बता रहा है।

अंतरराष्ट्रीय साजिश के तहत काम कर रहा डब्ल्यूएचओ!

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक उन्होंने कहा है कि डब्ल्यूएचओ बड़ी अंतरराष्ट्रीय दवा कंपनियों के दबाव में आकर ऐसा काम कर रहा है वह नहीं चाहता कि भारत की सस्ती दवाई को दुनिया में नाम तथा कामयाबी हासिल हो वह हमेशा भारत को नीचा दिखाना चाहते हैं मगर भारत किसी के दबाव में काम नहीं करेगा, हम कोरोना से लड़ने के लिए अपना खुद का तरीका आजमाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here